Vaccination

देशभर में 1 मार्च से कोरोना वेक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत होने जा रही हैं। इस चरण में 60 वर्ष से अधिक आयु वाले लोगो को वैक्सीन लगाई जायेगी। इनके अलावा 45 वर्ष से अधिक आयु वाले वे लोग जिन्हें कोई गंभीर या पुरानी बीमारी हैं, उन्हें भी इस चरण में वैक्सीन लगाई जायेगी। 

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक मे टीकाकरण के दूसरे चरण को 1 मार्च से शुरू करने के लिये मंजूरी दी गई हैं। उन्होंने आगे बताया कि इस चरण में वैक्सीनेशन का कार्य सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ प्राइवेट अस्पतालों में भी किया जायेगा। जहाँ दूसरे चरण की इस वेक्सीनेशन प्रकिया के लिये लगभग 10 हजार सरकारी अस्पताल व 20 हजार प्राइवेट अस्पताल चयनित किये गए हैं।

इस वेक्सीनेशन प्रकिया में सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त में लगाई जायेगी, लेकिन वही प्राइवेट हॉस्पिटल में जाकर वैक्सीन लगवाने पर कुछ शुल्क देना होगा। हालांकि अभी तक यह शुल्क तय नही किया गया हैं, लेकिन इसे भी एक-दो दिनों में तय कर दिया जायेगा जिसकी घोषणा स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा की जायेगी।

पिछले कुछ दिनों से देश मे बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए वेक्सीनेशन प्रकिया में तेजी लाना जरूरी हो गया था। इसी कारण अब वेक्सीनेशन प्रक्रिया में प्राइवेट सेक्टर को भी शामिल किया गया हैं ताकि वेक्सीनेशन की गति को बढ़ाकर संक्रमण को कम किया जा सकें। कुछ दिनों पहले विप्रो के संस्थापक अजीम प्रेमजी ने भी वेक्सीनेशन में प्राइवेट सेक्टर को शामिल करने की बात कही थी।

Related News:

इससे पहले 16 जनवरी से भारत मे टीकाकरण की शुरुआत हुई, जिसमें अब तक 1 करोड़ से अधिक लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी हैं। इस पहले चरण में हेल्थवर्कर्स समेत सभी फ्रंट लाइन वर्कर्स को वैक्सीन के दो डोज लगाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे लगभग पूरा भी किया जा चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here