नेशनल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी कमीशन (NNMC) Bill 2020, 5 नवंबर 2020 को पब्लिक कमैंट्स के लिए जारी हुआ। इस बिल के आने से नर्सिंग से संबंधित कई बदलाव होंगे। जिनमे से मुख्य बदलाव एक से अधिक नर्सिंग बोर्ड बनाना हैं। ये बोर्ड नर्सिंग से जुड़े अलग अलग कार्यो को सम्भालेंगे।

नए बनने वाले बोर्ड इस प्रकार से है:

  1. स्नातक शिक्षा बोर्ड (UG Educational Board): इस बोर्ड में स्नातक (Graduate) शिक्षा से जुड़े कार्यों और कई बदलावों को बताया गया है।
  2. उच्च स्नातक शिक्षा बोर्ड (PG Educational Board): इस प्रकार के बोर्ड में स्नातकोत्तर (Post graduate) शिक्षा से जुड़े कार्यों और कई बदलावों को बताया गया है।
  3. मूल्यांकन व रेटिंग बोर्ड (Assessment and Rating Board): सभी नर्सिंग संस्थानों का मूल्यांकन तथा रेटिंग और इससे संबंधित कई कार्य इस बोर्ड के द्वारा किये जायेगा।
  4. अचार विचार एवं पंजीकरण बोर्ड (Ethics and Registration Board): नर्सिंग संस्थानों को पंजिकृत करने तथा नर्सिंग नैतिकता को बढ़ावा देने का कार्य इस बोर्ड द्वारा किया जायेगा।

नेशनल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी कमीशन (NNMC) जो बोर्ड बनाएगा उनसे संबंधित कुछ प्रश्न व उनके उत्तर इस प्रकार है:

Q.1 नर्सिंग बोर्ड को कैसे बनाया जाएगा?

A. सभी नर्सिंग बोर्ड में से प्रत्येक बोर्ड के तीन भाग होंगे- 1. अध्यक्ष 2. पूर्वकालिक सदस्य 3. पार्ट टाइम सदस्य।

Q.2 क्या नर्सिंग बोर्ड का कोई हिस्सा होगा?

A.जी हां, यहाँ एक विशेषज्ञों की समिति होगी जो बोर्ड द्वारा बनाई जायगी। इस समिति को बोर्ड अपनी आवश्यकता के अनुरूप बनायेगा।

Q.3 बोर्ड के सदस्यों का कार्यकाल कितना होगा?

A. बोर्ड के अध्यक्ष व पूर्वकालिक सदस्यों का कार्यकाल 4 वर्ष तथा पार्ट टाइम सदस्यों का कार्यकाल 2 वर्ष का होगा।

Q.4 इन बोर्डों की शक्तियाँ क्या होगी?

A. चैयरमैन अपनी किसी भी शक्ति को बोर्ड के अधिकारी को सौप सकता हैं। इन बोर्ड के पास प्रशासनिक और वित्तीय शक्तियाँ भी होगी।

Q.5 NNMC बिल के draft में बदलाव के सुझाव कब तक दिए जा सकते हैं?

A. Draft पर टिप्पणी के लिये अंतिम दिनांक 6 दिसम्बर 2020 हैं जो कि निकल चुकी है।

Q.6 अपने सुझाव हम कैसे दर्ज कर सकते हैं?

A. इसके लिये nnmcbill-mohfw@nic.in पर मेल करे जा सकते थे।

अधिक जानकारी और सारांश, कृपया नेशनल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी कमीशन बिल, 2020 रेडी फॉर पब्लिक कमेंट्स को पढे।