National Commission for Allied & Healthcare Professionals Bill 2020

इस साल के बजट सत्र में सरकार द्वारा लाये गये एक बिल (Allied and Healthcare Bill 2020) को राज्यसभा के बाद अब लोकसभा में भी पास कर दिया गया हैं। जहाँ यह बिल 16 मार्च को राज्यसभा में पास हुआ था, वहीं एक हफ्ते में ही 24 मार्च को इस बिल को लोकसभा में भी मंजूरी दे दी गई।

इस Allied and Healthcare Bill 2020 को हेल्थ प्रोफेशनल के लिये लाया गया हैं। ताकि इस बिल के द्वारा बनने वाले कमीशन से देशभर में काम करने वाले हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स की देख-रेख की जा सकें, उन्हें पूरी दुनिया के सामने एक संगठन के रूप में प्रदर्शित किया जा सकें।

इसके अलावा इन हेल्थ प्रोफेशनल से जुड़े सभी कार्यो जैसे- शिक्षा, नोकरी, रजिस्ट्रेशन आदि. को क्रियान्वित करने का कार्य भी नये कमीशन का होगा। साथ ही यह नया कमीशन भावी हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स को भी प्रेरित करने का काम करेगा।

16 मार्च को इस बिल के राज्यसभा में पास होने के बाद इसे 24 मार्च को लोकसभा में प्रस्तावित किया गया, जहाँ सबकी सहमति के बाद इसे प्रस्तावित से पास किया गया। 

राज्यसभा व लोकसभा दोनों ही जगहों पर इस बिल के पास होने के बाद अब यह बिल अंतिम मंजूरी के लिये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास पहुँचा है। जहाँ से मंजूरी मिलते ही यह बिल लागू कर दिया जायेगा।

इस बिल के पास होने के बाद कई नये संस्थानों व कोर्सेज की शुरुआत की जायेगी, ताकि हेल्थ प्रोफेशनल्स के स्तर को सर्वोच्च स्तर तक ले जाया जा सकें।

लोकसभा में डॉ. हर्षवर्धन ने एक भाषण के दौरान बताया ‘जैसा कि हम जानते है इस महामारी के बाद से स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार लाने के लिये कई प्रयास किये जा रहे हैं, इन्हीं प्रयासों के रूप में इस बिल को लाया गया हैं।’ उन्होंने इस बिल की आवश्यकता व इस बिल के आने से होने वाले सुधारों के बारे में भी संसद में चर्चा की।

इस बिल के पास होने के बाद बनने वाला आयोग भारतीय इतिहास में स्वास्थ्य पेशेवरों के लिये पहला आयोग होगा। साथ ही इस कमीशन के बनने पर रोजगार के भी कई अवसर बढ़ेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here